CWG 2018: गुरुराजा ने दिलाया भारत को पहला पदक, वेटलिफ्टिंग की 56 किग्रा कैटेगरी में जीता सिल्वर

341
views

परम नागरिक /

 

गुरुराजा कर्नाटक के रहने वाले हैं। उन्होंने 2010 में वेटलिफ्टिंग करियर शुरू किया था। उनके पिता पिक-अप ट्रक ड्राइवर हैं। 
गोल्ड कोस्ट. कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले ही दिन भारत को बड़ी कामयाबी मिली। वेटलिफ्टर गुरुराजा पुजारी ने गुरुवार को 56 किलोग्राम (मेंस) कैटेगरी में सिल्वर जीता। मलेशिया के मोहम्मद एएच इजहार अहमद ने गोल्ड अपने नाम किया। वहीं, श्रीलंका के चतुरंगा लकमल को कांस्य पदक मिला। बता दें कि गुरुराजा कर्नाटक के रहने वाले हैं और उनके पिता ट्रक चलाते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर होने के बाद भी उनके परिवार ने उन्हें वो हर चीज दिलाई जो उनके इस गेम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी थी।

गुरुराजा पुजारी ने टोटल 249 किग्रा का वजन उठाया

गुरुराजा पुजारी ने 56 किलोग्राम (मेंस) कैटेगरी में कुल 249 किग्रा (स्नैच में 111 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 138 किग्रा) वजन उठाया।

– गुरुराजा ने स्नैच की पहली कोशिश में 107 किग्रा भार उठाया। फिर उन्होंने 111 किग्रा भार उठाने की कोशिश की, लेकिन फाउल कर गए। तीसरी कोशिश में उन्होंने 111 किग्रा भार उठाया।

– इसी तरह, क्लीन एंड जर्क की पहली कोशिश में 138 किग्रा भार ऑप्ट किया, लेकिन फाउल कर गए। दूसरी कोशिश में भी 138 किग्रा भार ऑप्ट किया, लेकिन इस बार भी वह फाउल कर गए। हालांकि, तीसरी और आखिरी कोशिश में उन्होंने 138 किग्रा का वजन उठाकर सिल्वर पक्का कर लिया।

ट्रक ड्राइवर के बेटे हैं गुरुराजा
– गुरुराजा मूल रूप से कोस्टल कर्नाटक में कुंडूपारा के रहने वाले हैं। उनके पिता पिक-अप ट्रक ड्राइवर हैं। उन्होंने 2010 में वेटलिफ्टिंग करियर शुरू किया था।

– शुरू में उनके सामने कई परेशानियां आईं। डाइट और सप्लीमेंट्स के लिए पैसे की जरूरत होती थी, जो उनके पास नहीं थे, लेकिन उनके पिता ने उन्हें हिम्मत नहीं हारने दी। उनके परिवार में आठ लोग हैं।

– गुरुराजा बताते हैं कि हालांकि बाद में धीरे-धीरे चीजें बेहतर होती गईं।

कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में जीता था गोल्ड
– गुरुराजा पुजारी ने 2016 साउथ एशियन गेम्स में इसी कैटेगरी में गोल्ड जीता था। तब उन्होंने कुल 241 किग्रा वजन उठाया था।

– उन्होंने इसी साल पेनांग में कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में भी गोल्ड जीता। उन्होंने 249 किग्रा (स्नैच में 108 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 141 किग्रा ) वजन उठाया था।

मलेशिया के इजहार ने बनाए 2 रिकॉर्ड
मोहम्मद इजहार ने गुरुवार को कॉमनवेल्थ गेम्स में दो रिकॉर्ड बनाए। पहला उन्होंने टोटल वेट में रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने 261 किग्रा (स्नैच में 117 किग्रा. और क्लीन एंड जर्क में 144 किग्रा.) का वजन उठाया।
इससे पहले यह रिकॉर्ड उनके ही देश के हमीजन अमीरुल इब्राहिम के नाम था। हमीजन ने 30 जुलाई, 2002 को मैनचेस्टर (इंग्लैंड) कॉमनवेल्थ गेम्स में 260 किग्रा का वजन उठाया था।
इसके अलावा इजहार ने स्नैच में भी कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने स्नैच की पहली कोशिश में 114 किग्रा का और दूसरी कोशिश में 117 किग्रा वजन उठाया। तीसरी कोशिश में उन्होंने 119 किग्रा का वजन ऑप्ट किया, लेकिन फाउल कर गए। इससे पहले स्नैच में हमीजन अमीरुल इब्राहिम ने 2010 दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में 116 किग्रा वजन उठाकर कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड बनाया था।

1 COMMENT

  1. I blog often and I seriously thank you for your content. This great article has really peaked my interest. I’m going to bookmark your site and keep checking for new details about once per week. I opted in for your RSS feed as well.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here